चाणक्य के अनमोल विचार Chanakya Quotes Part-5

Chanakya Quotes in Hindi

सेवकों को अपने स्वामी का गुणगान करना चाहिए.

क्षमाशील व्यक्ति का तप बढ़ता रहता है.

आपातकाल में स्नेह करने वाला ही मित्र होता है.

जल के एक-एक बूँद के गिरने से धीरे-धीरे घड़ा भर जाता है। इसी प्रकार सभी विद्या, धर्म और धन-संचय धीरे-धीरे ही होता है.

बल प्रयोग के स्थान पर क्षमा करना अधिक प्रशंसनीय होता है.

क्षमा करने वाला अपने सारे काम आसानी से कर लेता है.

सोने के साथ मिलकर चांदी भी सोने जैसी दिखाई पड़ती है अर्थात सत्संग का प्रभाव मनुष्य पर अवश्य पड़ता है

साहसी लोगों को अपना कर्तव्य प्रिय होता है.

ज्ञानी पुरुषों प्रवासकाल में विद्या मित्र होती है, घर में पत्नी मित्र होती है, रोगी के लिए औषधि मित्र होती है और मृत्यु के बाद धर्म ही मित्र होता है। को संसार का भय नहीं होता.

मित्रों के संग्रह से बल प्राप्त होता है

धार्मिक अनुष्ठानों में स्वामी को ही श्रेय देना चाहिए.

Chankya Quotes On YouTube

 

दोस्तों! यह Hindi Quotes आपको कैसे लगे? यदि यह आपको अच्छे लगे तो आप इन Quotes को Share कर सकते हैं.

इसके अतिरिक्त आप अपना Comment दे सकते हैं

Presented By

Anil  Sahu

www.Hindisuccess.com

www.edutoday.in

Chanakya Quotes On You Tube Part-1

Chanakya Quotes On You Tube Part-2

Chanakya Quotes On You Tube Part-3

Chanakya Quotes On You Tube Part-4

दोस्तों उम्मीद है आपको हमारी वेबसाइट पसंद आई होगी. अगर आप भी हिंदी सक्सेस डॉट कॉम पर अपनी पोस्ट प्रकाशित करना चाहते हैं तो हमें अवश्य भेजें. पसंद आने पर हम इसे आपके नाम और आपके फोटो सहित प्रकाशित करेंगे. आप भी इस तरह से हिंदी सक्सेस के गेस्ट ब्लागर बन सकते हैं.

Thanks to reading this post. Please share it to your Facebook Friends if you like this.

HindiSuccess के नए पोस्ट की जानकारी ई-मेल पर पायें

1 thought on “चाणक्य के अनमोल विचार Chanakya Quotes Part-5”

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *