प्रशंसा और तारीफ (Prashansha Par Anmol Kathan)

Prashansha Par Anmol Kathan

Prashansha Par Anmol Kathan

तारीफ़ करना सीखें.

हर इन्सान के जीवन में यह बहुत जरूरी है कि उसे महत्वपूर्ण होने का एहसास करवाया जाए. हम सभी चाहते हैं कि कोई हमे महत्वपूर्ण महसूस करवाए. Taarif  हमें यही अहसास देती है. तारीफ़ के दो शब्द निकालना कोई कठिन काम नहीं है. किसी खास वक़्त पर जब आप किसी की तारीफ़ करते हैं या पीठ थपथपाते हैं तो उस इंसान को मिलने वाली ख़ुशी का अंदाजा लगाना मुश्किल है.  फिर भी कई लोगों के लिए किसी की प्रशंसा करना भी कठिन कार्य है.

Read Also: Nice lines in Hindi 1

सच्चे दिल से प्रशंसा करना

दो बोल शाबाशी के बहुत मायने रखते हैं. तारीफ के शब्द सारी थकान कम कर देते हैं. किसी ने अगर कोई अच्छा या नेक काम किया है तो उसकी तारीफ़ करने में कंजूसी न बरतें. सच्चे दिल से करनें तो बात कुछ और ही होती है.

हिंदीसक्सेस डॉट कॉम पर पढ़िए शानदार सुविचार संकलन.

 

दोस्तों पसंद आने पर आप इस पोस्ट को अपने दोस्तों तक share कर सकते हैं. अपनी राय कमेंट्स के माध्यम से हम तक अवश्य पहुंचाएं. धन्यवाद.

अनिल साहू.

HindiSuccess के नए पोस्ट की जानकारी ई-मेल पर पायें

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *