मातृभाषा दिवस

अंतर्राष्ट्रीय मातृभाषा दिवस (International Mother Language Day)

मातृभाषा दिवस (21 फरवरी International Mother Language Day)

प्रत्‍येक वर्ष 21 फरवरी के दिन को अंतरराष्ट्रीय मातृभाषा दिवस Mother Language Day रूप मनाया जाता है.  इस दिवस को मनाने की स्वीकृति वर्ष 1999 में यूनेस्‍को द्वारा दी गई थी.

मातृभाषा दिवस

अंतरराष्ट्रीय मातृभाषा दिवस का इतिहास

व्‍यक्ति जन्‍म लेने के बाद पहली बार बोलता या सीखता है वही उसकी मातृभाषा कहलाती है. अंतरराष्ट्रीय मातृभाषा दिवस को मनाने का इतिहास काफी पुराना है इस दिवस को मनाने का उद्देश्य विश्व में भाषाई एवं सांस्कृतिक विविधता और बहुभाषिता को बढ़ावा देना ऐसा माना जाता है 21 फरवरी 1952 को ढाका में कई छात्रों ने बांगला को राष्ट्रभाषा बनाने की मांग की उनके इसी आन्‍दोलन की याद में बांग्लादेश में इस दिन एक राष्ट्रीय अवकाश होता है.

कितना जरूरी है मातृभाषा दिवस मनाना?

विश्व की लगभग 3000 भाषाओं के अस्तित्वों पर विलुप्तता का खतरा मंडरा रहा है.  यूनेस्को ने 21 फरवरी को अंतरराष्ट्रीय मातृभाषा दिवस घोषित किया है. इसका मुख्य मकसद विश्व में आपसी भाईचारे को बढ़ाने व संस्कृति के आदान-प्रदान में भाषाओं का बेहद योगदान होता है.

मातृभाषा दिवस (21 फरवरी International Mother Language Day)

दुनिया में भाषाओं की संख्या: एक अध्ययन

यूएन के अनुसार विश्व भर में बोले जाने वाली भाषाओं की संख्या लगभग 6000 है। इनमे 90 फीसदी भाषाओं को बोलने वाली की संख्या 1 लाख से कम है। लगभग 150 से 200 भाषाएं ऐसी है जिन्हें 10 लाख से अधिक लोग बोलते हैं।  एक अनुमान के मुताबिक अगले 40 साल में 4 हजार से अधिक भाषाओं के खत्म होने का खतरा मंडरा रहा है. इस परिदृश्य में यह दिवस और भी अधिक महत्वपूर्ण हो जाता है.

आवश्यक है मातृ भाषा का अध्ययन

मातृभाषा सुसम्बद्ध और सुव्यवस्थित योजना की पूर्ति का महत्वपूर्ण घटक है. संयुक्त राष्ट्र संघ की एक रिपोर्ट का मानना है कि अधिकांश बच्‍चे स्कूल जाने से इसलिए कतराते हैं क्योंकि उनकी शिक्षा का माध्यम वह नहीं है, जो भाषा घर में बोली जाती है.

Importance of Mother language Day

राष्ट्र की क्षमता और राष्ट्र के वैभव के निर्माण में मातृभाषा का महत्वपूर्ण योगदान है। आयातीत भाषाएं न तो राष्ट्र के वैभव की समृद्धि करती हैं और न ही राष्ट्रत्व-भाव को जागृत करती हैं। संस्कार, साहित्य- संस्कृति, सोच, समन्वय, शिक्षा, सभ्यता का निर्माण, विकास और उसका वैशिष्ट मातृभाषा में ही संभव है.

Happy Language Day.

International Mother Language Day के अवसर पर इस बारे में वैश्विक स्तर पर विचार मंथन किया जाता है.

दोस्तों पसंद आने पर ये पोस्ट दोस्तों को शेयर कीजिए. हिंदी सक्सेस डाट काम से जुडे रहिए. एक नई पोस्ट के साथ जल्दी ही मिलते हैं.

धन्यवाद.

अनिल कुमार साहू.

Hindisuccess.com

आओ हिंदी को आगे बढाएँ.

जय हिंद. जय हिंदी. जय भारत.

वंदे मातरम.

अनुवाद का स्वागत है

हिंदी में अनुवाद के लिए आपका स्वागत है. आप हिंदी कहानियाँ भी यहाँ लिख सकते हैं. हम अतिथि पोस्ट प्रकाशित करते हैं. आप हिंदी प्रचार के अभियान में हमसे जुड सकते हैं. हमें अपनी राय से अवश्य अवगत करवायें.

हिन्दी प्रसार में सहयोग

आप हिन्दी में लिख सकते हैं. हम आपको एक मंच देंगे. हिन्दी सक्सेस डाट काम पर आप लिख सकते हैं.

 हिन्दी टैग बनाइऐ

सोशल मीडिया पर हिन्दी टैग को प्रोत्साहित कीजिए.

HindiSuccess के नए पोस्ट की जानकारी ई-मेल पर पायें

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *