Why Be GENEROUS?

Why Be GENEROUS It was when ice-creams or rather nothing were so expensive. A ten year old boy saved from his meager pocket money to have a SUNDAE Ice-Cream and went to an ice-cream parlor. While sitting at the table, he asked the waitress “how much a Sundae ice-cream costs?” “50 cents” she replied. The […]

खुशहाल जिंदगी के पांच सिद्धांत- Happy Ways Five Principles

Happy Ways Five Principles. Five inspirational principles for live life happy. A short motivational speech to Live Life 100%. HAPPY WAYS HAPPY LIVING! FIVE PRINCIPLES Happy Ways Five Principles 1.Free Your Heart From Hatred. 2.Free Your Mind From Worry. Live Fearlessly. 3.Live SIMPLY. We needlessly complicate Our Lives & Invite Miseries. 4.GIVE More. You Do […]

HAPPINESS IS A STATE OF MIND

HAPPINESS IS A STATE OF MIND Happiness is always needed. Beautiful message explaining how Happiness is a State of Mind. All of us should try to develop such attitude.   क्या वास्तव में प्रसन्नता मन की एक दशा है? क्या प्रसन्नता कोई बनी बनाई चीज है? प्रसन्नता अपने कर्मों से या फिर प्रयासपूर्वक आती है.   […]

Heart Toching Poems Dil se

कुछ शायरी दिल से….

मैंने सुना है कि जो लोग फूल बेचते हैं अक्सर उनके हाथों में खुशबु रह जाती है इसीलिए ये हिसाब रखना छोड़ दिया कि मैंने किस-किस के साथ अच्छा किया है. उम्मीद है उस रब से बहुत उम्मीद तो बहुत थी रब से पर रब की रज़ा देख कर रब से चाहना भी छोड़ दिया […]

आप क्या बनना चाहते हैं मिस्टर हैप्पी या मिस्टर सैड?

      आप क्या बनना चाहते हैं मिस्टर हैप्पी या मिस्टर सैड. Choice is yours. हम में से लगभग हर कोई यही चाहता है कि उसे ज्यादा से ज्यादा लोग पसंद करें. ज्यादा से ज्यादा लोग उसकी तारीफ करें, ज्यादा से ज्यादा लोग उसे like करें आदि आदि. हमारी सोच कहीं से भी गलत […]

आपकी उपलब्धियां, आपकी सफलता और आपकी सोच

“आप जीवन में वो सब कुछ पा सकते हैं जो आप चाहते हैं.” -संकलित मेरे एक मित्र हैं श्री दिनेश कुमार जैन जी. उन्हें मित्र न कहकर बड़े भाई कहा जाए तो ज्यादा सही होगा क्योंकि वो मुझसे उम्र में भी बड़े हैं और नौकरी में भी सीनियर हैं. कभी कभार उनसे मुलाकात होती रहती […]

Believe in Yourself; You Are The Unique One

गोपाल दो महीने से बहुत उलझन में था. उसके सभी दोस्त कारोबार और नौकरी में आगे निकल गए थे. गोपाल उन सब से बहुत पीछे रह गया था और  कई दिनों तक जब उसने इस पर गहराई से सोचा तो वह हीन भावना से ग्रसित हो गया. उसे अपने आप पर पछितावा और ग्लानि सी […]

मुसीबतों से डरिये नहीं; जूझिये

मुसीबतों से डरिये नहीं; जूझिये– (Musibato se dariye mat; Jujhiye) प्रिय मित्रों, मनुष्य की इच्छा हो या नहीं लेकिन जीवन में उतार चढाव आना स्वाभाविक है. यह जीवन परिवर्तनशील परिस्थितियों से बंधा हुआ है  और इसी कारण चढ़े हुए गिरते हैं गिरे हुए उठते हैं..कठिनाइयाँ इस जीवन की एक सहज स्वाभाविक स्थिति है जिन्हें स्वीकार करके […]