मजेदार हिंदी कहानियां (Funny Hindi Kahaniyan)

 

Funny Hindi Stories

 

Funny Hindi Kahaniyan. नमस्कार प्रिय पाठको हिंदी सक्सेस की कहानियाँ पढ़ने के लिए आपका दिल से स्वागत है। आज हिंदी सक्सेस आपके लिए दो मजेदार Hindi kahaniyan प्रस्तुत कर रहा है।

Best Hindi Kahaniyan

तो चलिए कहानियाँ पढ़ना शुरू करते है –

पहली कहानी :- दो मूर्ख शिष्य और गुरूजी Hindi Kahani 

Funny Hindi Story

एक नगर की पाठशाला में एक गुरूजी रहते थे। इनके दो चेले थे। दोनों मुर्ख थे। एक दूसरे से बहुत जलते थे। एक शिष्य गुरूजी का दायाँ पैर मल-मल कर धोया करता और दूसरा चेला बायाँ पैर धोया करता था।

 

यह भी देखें: परियों की कहानियां

 

Best Hindi Kahaniyan हिंदी सक्सेस

एक  दिन ऐसा हुआ कि गुरूजी ने उस चेले को जो उनका दाहिना पैर धोता था उसे किसी जरुरी काम से बाहर भेज दिया। 

उसके जाने के बाद बायाँ पैर धोने वाले शिष्य से कहा ”आज तुम मेरा दायाँ पैर भी धो दो”

यह भी पढ़िए: मौन गूँज हिन्दी भाषा की अंतर्राष्ट्रीय वेब पत्रिका.


उस मूर्ख चेले ने कहा में उसका पैर नहीं धोऊंगा वो मुझसे बहुत जलता है और लड़ता भी है। 

यह भी पढ़िए:

गूगल के फाउंडर लैरी पेज और सेरेगिन ब्रिन की सफलता की कहानी


गुरूजी ने उसे बहुत समझाया तो वह पैर धोने के लिए राजी हो गया। लेकिन पैर धोने के बाद उस चेले ने गुरूजी के उस पैर को पत्थर से मार-मार कर तोड़ डाला। 


गुरूजी दर्द के मारे चिल्लाने लगे। उनकी आवाज सुनकर दूसरे चेले दौड़े हुए आये और उन्होंने उस मूर्ख चेले को बहुत पीटा। 

Read popular Hindi Story: सयाने आदमी की कीमत


दूसरे दिन दायाँ पैर धोने वाला चेला लोट आया और कल जो हुआ था उसका उसे पता चल गया। उसे बहुत गुस्सा आया और उसने भी उसकी  तरह ही गुरूजी का दूसरा पैर भी तोड़ डाला। 


इस प्रकार उन मूर्खो ने गुरूजी को हमेशा के लिए अपंग बना दिया।

आप पढ़ रहे हैं

Best Hindi Kahaniyan दो मूर्ख शिष्य और गुरूजी Hindi Kahani मूर्ख दामाद की मजेदार कहानी।

मूर्ख दामाद की मजेदार Hindi Kahani 

मूर्ख दामाद की मजेदार कहानी, majedar Hindi kahaniyan, funny Hindi Story

एक मूर्ख था ! शादी के बाद वह पहली बार अपने ससुराल गया। उसकी सास दामाद को देखकर बहुत खुश हुई। उसने दामाद की आवभगत करने के लिए बढ़िया चावल निकाले। वह उनको साफ का रही थी कि अचानक सास  को किसी काम से बाहर जाना पड़ा। 


वह मूर्ख वही बैठा हुआ था। उसे वे चावल बहुत अच्छे लगे। जब सास बहार चली गयी। तो दामाद ने एक मुठ्ठी भर कर चावल अपने मुँह में डाल लिए। उसी समय सास  भी वापस लोट आयी। 

यह भी पढ़िए: सादगी ऐसी भी न हो


वह मूर्ख घबरा गया। वह उन चावलों को न निगल सका और न उगल सका। उसका मुँह फूल गया और उसके लिए बोलना भी मुश्किल हो गया। 

 

Read Hindi Story: एक ये और एक वो


यह देखकर उसकी सास बहुत परेशान हुई। यह अचानक मेरे दामाद को क्या हो गया ? उसने अपने पति को बुलाया। पति ने जब अपने दामाद का फुला हुआ मुँह देखा तो वह भी घबरा गया। एक दम भागता हुआ वैद्य जी के पास पहुंचा। 


वैद्य जी ने आकर देखा तो कहा, ”ऐसा लगता है कि इसके गले में फोड़ा है इसकी ठोड़ी में सुराख करना पड़ेगा” तब यह सारी मवाद बाहर निकलेगी। 


वह मूर्ख अब भी कुछ नहीं बोला वैद्य जी ने उसके गले में सुराख कर दिया लेकिन यह क्या उस सुराख से तो चावल निकल रहे थे। 

Majedar Hindi Kahaniyan.


सास-ससुर और वैद्य जी ने जब यह देखा तो वे सब समझ गए और अपने दामाद की मूर्खता पर खूब हँसे। 

यह भी पढ़िए: मां की सीख

दोस्तों में लोकेश रेशवाल जो आपको यह कहानियां सुना रहा हूँ यदि आप मेरे द्वारा लिखी गयी और हिंदी कहानियां पढ़ना चाहते है तो आप नीचे दी गयी पोस्ट पर क्लिक करके डायरेक्ट मेरी साइट BestBook पर जा सकते है।  

अभी पढ़े :- प्रेरणादायक हिंदी कहानियों का सबसे बड़ा संग्रह – 12 Hindi Kahaniyan 

दोस्तों आपको यह दोनों Hindi Kahaniyan कैसी लगी कमेंट में जरूर बताकर जाये और अपने फेसबुक मित्रो के साथ जरूर शेयर करे। 

तो फिर मिलते है एक और नयी कहानी के साथ। 

धन्यवाद !

Thanks to reading मजेदार हिंदी कहानियां

(Funny Hindi Kahaniyan).

HindiSuccess के नए पोस्ट की जानकारी ई-मेल पर पायें

9 thoughts on “मजेदार हिंदी कहानियां (Funny Hindi Kahaniyan)”

  1. वाह लोकेश जी,
    आपने बड़ी ही जबरदस्त कहानियां सुनाई। मूर्ख चेलों ने बेचारे गुरुजी के पैर तोड़ डाले।
    और,
    मूर्ख दामाद ने चावलों को मुँह में स्टोर करके रख लिया। दामाद जी वाली कहानी लोकडाउन में और भी ज्यादा प्रासंगिक लगती है।
    शायद दामाद जी को लगा होगा कि लोकडाउन के चलते न जाने कौनसी चीज कब बंद हो जाए। इसलिए जितना हो सके, स्टोर करके रख लो।
    अगर नहीं किया तो शराबियों वाली हालत हो जाएगी।
    हाहाहाहाहाहा।

Leave a Comment

HindiSuccess.com