ध्येय वाक्य सुभाषित सुविचार भाग-1

संस्कृत के लोकप्रिय ध्येय वाक्य सुभाषित सुविचार



हिंदी सुविचार एवं ध्येय वाक्य, Subhashit Sanskrat dhyey vakya in Hindi. संस्कृत सुविचार सुभाषित संग्रह, शैक्षिक संस्थानों और शासकीय कार्यालयों में लिखे जाने वाले कुछ लोकप्रिय ध्येय वाक्य. Sanskrat Dhyey Vaky, सुभाषित वचन, Subhashit Suvichar विद्या पर संस्कृत में श्लोक, संस्कृत ध्येय वाक्यों का संग्रह, अच्छे आदर्श वाक्य संस्कृत और हिंदी में. महापुरुषों के आदर्श ध्येय वाक्य, विभिन्न संस्थानों के ध्येय वाक्य, संस्कृत श्लोक गुरु पर, संस्कृत श्लोक व अर्थ, Hindi Quotes used in Shaskiya Sansthan.

ध्येय वाक्य सुभाषित सुविचार भाग 1


दूरदर्शन और आकाशवाणी के ध्येय वाक्य


भारतीय दूरदर्शन का ये ध्येय वाक्य सबको मालूम होगा “सत्यं शिवम् सुन्दरम”. पहले जब भारत में दूरदर्शन लोकप्रियता के शिखर पर था जब दूरदर्शन का ये ध्येय वाक्य मन को बड़ा आनंदित करता था. इसी तरह आकाशवाणी का ध्येय वाक्य है “सर्वजन हिताय सर्वजनसुखाय”. दूरदर्शन और आकाशवाणी दोनों प्रसार माध्यमों ने अपने घ्येय वाकयों के अनुरूप ही काम किया है. आज भी आकाशवाणी और दूरदर्शन लोकप्रिय हो तो कितना अच्छा लगे. दूरदर्हन आकाशवाणी ने लोककला और लोकगीतों को एक महत्वपूर्ण स्थान देकर भारतीय संस्कृति का मान बढाया है. आज भी दोनों माध्यमों पर संस्कृत में समाचार नियमित रूप से आते हैं.

                                           सुभाषित सुविचार ध्येय वाक्य (अनमोल वचन) भाग-3



ध्येय वाक्य सुभाषित सुविचार भाग-2 जल्दी ही पब्लिश किया जायेगा.



शैक्षिक संस्थानों के ध्येय वाक्य


विभिन्न शैक्षिक संस्थाओं के अपने-अपने ध्येय वाकय रहते हैं. शिक्षण संस्थान इन्हें अपने कार्यालयीन पत्रों और पत्र-पत्रिकाओं में उपयोग करते हैं. केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड का ये सुविचार ध्येय वाक्य संकृत में विद्या का और वीणावादिनी का ही मान बढ़ता है- “असतो मा सद् गमय”. विश्वविद्यालय अनुदान आयोग का आदरह ध्येय वाक्य है- “ज्ञान-विज्ञानं विमुक्तये”. ध्येय वाक्यों को हम सुभाषित या सुविचार भी कह सकते है क्योंकि ये हमें अच्छा कर्म करने की प्रेरणा देते हैं. Shaskiya Sansthan इन्हें अपने कार्यालयों में इसलिए लिखते हैं ताकि संस्थान के प्रमुख लक्ष्य उनके कर्मचारियों को याद रहें. बार-बार जब ध्येय वाक्यों या सुविचारों पर नजर पड़ती है तो हम उन पर विचार भी करते हैं.
ध्येय वाक्य सुभाषित सुविचार भाग-1

Suvichar हिंदी सक्सेस विडियो 1  

Dhyey Vakya Used by many Government Institutions


कई सरकारी संस्थाओं में बहुत से सुविचार और सुभाषित संस्कृत श्लोक, सूक्तियां और अनमोल वचनों को लिखा जाता है. कुछ उनके विशेष ध्येय वाक्य भी रहते हैं. शाला, पंचायत भवन आदि शासकीय भवनों पर इसी प्रकार के कई सुविचार लिखाए जाते हैं. यहाँ कुछ लोकप्रिय Dhyey Vakya दिए जा रहे हैं. पसंद आने पर आप इनका उपयोग कर सकते हैं.

ज्ञानं परमं बलम्
योगः कर्मसुकौशलम्
ज्ञानं परमं ध्येयम्
तमसो मा ज्योतिर्गमय
सिद्धिर्भवति कर्मजा
श्रमं विना नकिमपि साध्यम्
विद्या विनियोगाद्विकास:
तेजस्वि नावधीतमस्तु
योगः कर्मसु कौशलम्
जननी जन्मभूमिश्च स्वर्गादपि गरीयसी
कर्मह हि धर्मह
यश सिद्धि.

Friends, you can read here Inspirational stories, motivational articles, Quotes in Hindi.

Read Other Posts

प्रेरणादायक सुविचार- Part-1

प्रेरणादायक सुविचार- Part-2


निवेदन: प्रिय मित्रों, आपको “सुभाषित सुविचार वीडियो हिंदी” ये पोस्ट पसंद आई हो तो इसे अपने फेसबुक दोस्तों तक अवश्य शेयर करें. आप हमारे यू-ट्यूब चैनल को अवश्य देखिये और पसंद आने पर इसे सब्सक्राइब भी करें.

Dhyey vaky subhashit suvichar sanskrat. 
आशा है यश सिद्धि, सुविचार ध्येय वाक्य, संस्कृत सुविचार सुभाषित संग्रह, शैक्षिक संस्थानों, शासकीय कार्यालयों में लिखे जाने वाले लोकप्रिय ध्येय वाक्य आपको पसंद आये होंगे. 


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ