काली परी की कहानी

Hindi Story Kali Pari 

काली परी की कहानी

 परी लोक में एक परी रहती थी। वह बहुत ही नटखट थी।  उसकी इन हरकतों से परेशान होकर रानीपरी ने उसे श्राप  दे दिया और उसकी  सुंदरता को उठाकर जमीन पर फेंक दिया।

इससे वह परी कालीपरी हो गई। उसने रानी परी से बहुत विनती की और कहा कि वह कभी भी मस्ती नहीं करेगी। कृपया उसकी सुंदरता उसे वापस दे दिया जाए।

कालीपरी और रानीपरी की कहानी

 

कालीपरी के इस तरह से विनती करने  पर रानीपरी का गुस्सा शांत हुआ। उन्होंने कहा ठीक है इसके लिए तुम्हें धरती लोक पर जाना होगा। मैं अपनी शक्ति से तुम्हें एक मानव बनाती हूँ  और उसके बाद तुम  धरती लोक पर जाओ।

Hindi blog hindisuccess.com पर कई मजेदार children loving Fairy Tales का भंडार है। पढ़ते रहिए- काली परी की कहानी।

वहां तुम्हें कुछ कार्य सिद्ध करने  हैं और यह नियत का खेल है। मैं तुम्हे एक अंगूठी  देती हूं जिससे जैसे ही तुम्हारी सुंदरता तुम्हारे करीब आएगी , यह अंगूठी चमक उठेगी।

Angel's tale in Hindi


इससे तुम जान पाओगी  कि तुम्हारी सुंदरता किसके पास है। और यह  गोली लो। जब भी तुम्हें भूख लगेगी तुम इसे खा लेना।  इससे तुम्हारी भूख ख़त्म हो जायेगी। 

जब तुम अपनी सुंदरता ढूंढ लोगी तब मैं तुम्हारी मदद के लिए वहां पर जरूर आऊंगी। उसके बाद कालीपरी धरती लोक पर आ गयी।  वह दिन रात अपनी सुंदरता को ढूढ़ने लगी।

अद्भुत परीकथाएं

सुन्दरता ढूढ़ने  के लिए वह एक गांव से दूसरे गाँव और  एक शहर से दूसरे शहर चलने लगी।  लेकिन उसे कहीं पर नहीं मिली। वह बहुत निराश हुई।

लेकिन उसने मन में सोचा अगर यह नियति का खेल है तो मुझे मेरी सुंदरता जरूर मिलेगी। एक दिन  की बात है जब वह एक गांव में पहुंची तो कोलाहल मचा हुआ था।

fantacy faory tales in Hindi.


सब लोग इधर-उधर भाग रहे थे। उसने एक महिला  पूछा यहां क्या हुआ है? क्यों सब लोग इधर-उधर भाग रहे हैं ? तब उस महिला ने कहा, "यहाँ एक राक्षसी आती है और  वह लोगों को खा जाती है।  उसी के डर से सब लोग हैं भाग रहे हैं "

काली परी की अंगूठी

जब महिला बोल रही थी उसी समय काली परी की अंगूठी चमक गई। तब काली परी को पता चल गया कि उसकी सुंदरता इसी महिला के पास है।  उसने उस महिला से कहा किसी को भी उस राक्षसी से डरने की आवश्यकता नहीं है।  मैं उसे मार भगाउंगी।

 

उस महिला को बड़ा आश्चर्य हुआ। तब तक वह राक्षसी आ गई।  परी ने उसे रोक लिया और दोनों के बीच भीषण लड़ाई होने लगी। अंत में कालीपरी ने राक्षसी  को मारा भगाया।

काली परी की रोचक कहानी

 

सभी लोग काली परी की जय जयकार करने लगे।  उस महिला ने पूछा आखिर आप कौन है और आपके पास इतनी शक्तियां कैसे हैं ? तब काली परी ने कहा मैं एक परी हूं।  मैं अपनी सुंदरता लेने के लिए धरती लोक पर आई हूं जो कि तुम्हारे पास है।

रानी परी के श्राप की कहानी

 वह महिला थोड़ी चौकी और उसने कहा ऐसा कैसे हो सकता है ? तब काली परी पूरी घटना  विस्तार से बता दी कि किस तरह से रानी परी ने उसे श्राप दिया और इसलिए उसे धरती लोक पर आना पड़ा।

 

kaali pari ko shrap kisne aur kyon diya/ काली परी की कहानी

उसके बाद उस महिला ने कहा, " हां यह सत्य है।  इसके पहले मैं बहुत ही कुरूप  थी और इस वजह से सभी लोग मुझे  चिढाते  थे और मेरा पति भी मुझसे दूर ही रहता था।  लेकिन अगर  आप मेरी सुंदरता वापस ले लोगी तो सब लोग फिर से मेरे साथ वैसा ही व्यवहार करेंगे।  "

काली परी असमंजस में पड़ गयी।  फिर उसने निर्णय लिया कि वह उस महिला से सुन्दरता वापस नहीं लेगी।  उसने उस महिला से कहा, " मुझे सुन्दरता नहीं चाहिए।  मैं पुरे जन्म ऐसे ही रह लूंगी।  "

तभी एक चमत्कार हुआ।  वह महिला लालपरी के रूप में बदल गयी और वहाँ रानी परी भी आ गयी।  रानी परी ने कहा, " यह सब तुम्हारी परीक्षा के लिए किया गया था।  हम यह देखना चाहते थे कि तुम अपने स्वार्थ के लिए इस सुन्दरता को लेती हो या नहीं।  तुमने इसे नहीं लेकर परीक्षा पास कर ली।  अब तुम्हे तुम्हारी सुन्दरता भी मिल जायेगी और तुम्हे परीलोक में महत्वपूर्ण पद भी दिया जाएगा।

उसके बाद रानीपरी ने छड़ी घुमाई और कालीपरी फिर से खुबसूरत हो गयी और सभी लोग परीलोक  लौट गए और वहाँ कालीपरी का सम्मान किया गया।

मित्रों यह Hindi ki Kahani To Read आपको कैसी लगी जरूर बताएं और Hindi ki Kahani की तरह की दूसरी कहानी के लिए हमारे ब्लॉग को आज ही सब्सक्राइब कीजिये.

कहानी पढ़ने के लिए धन्यवाद।

Kali Pari Hindi ki Kahani.

WhatsApp Groups में शेयर करें मजेदार कहानी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ